Bewafa shayari, Dard hi sahi

किसी का रूठ जाना और अचानक बेवफा होना,
मोहब्बत में यही लम्हा कयामत की निशानी है।
kisee ka rooth jaana aur achaanak bevapha hona,
mohabbat mein yahee lamha kayaamat kee nishaanee hai.

तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।
tera khyaal dil se mitaaya nahin abhee,
bevapha mainne tujhako bhulaaya nahin abhee.

दर्द ही सही मेरे इश्क़ का इनाम तो आया,
खाली ही सही होठों तक जाम तो आया,
मैं हूँ बेवफा सबको बताया उसने,
यूँ ही सही चलो उसके लबों पर मेरा नाम तो आया।
dard hee sahee mere ishq ka inaam to aaya,
khaalee hee sahee hothon tak jaam to aaya,
main hoon bevapha sabako bataaya usane,
yoon hee sahee chalo usake labon par mera naam to aaya.

Read More