Intezaar shayari, Dil mein intezaar ki laqeer

दिल में इंतज़ार की लकीर छोड़ जायेंगे,
आँखों में यादों की नमी छोड़ जायेंगे,
ढूंढ़ते फिरोगे हमें हर जगह एक दिन,
ज़िन्दगी में ऐसी अपनी कमी छोड़ जायेंगे।
dil mein intazaar kee lakeer chhod jaayenge,
aankhon mein yaadon kee namee chhod jaayenge,
dhoondhate phiroge hamen har jagah ek din,
zindagee mein aisee apanee kamee chhod jaayenge.

कोई क्यों मेरा इंतज़ार करेगा,
अपनी जिंदगी मेरे लिए बेकार करेगा,
हम कौन से, किसी के लिए ख़ास हैं,
क्या सोचकर कोई हमें याद करेगा।
koee kyon mera intazaar karega,
apanee jindagee mere lie bekaar karega,
ham kaun se, kisee ke lie khaas hain,
kya sochakar koee hamen yaad karega.

Read More