Yaad shayari, kisi ki yaadon ko rok pana

किसी की यादों को रोक पाना मुश्किल है,
रोते हुए दिल को मनाना मुश्किल है,
ये दिल अपनों को कितना याद करता है,
ये कुछ लफ़्ज़ों में बयां कर पाना मुश्किल है।

kisee kee yaadon ko rok paana mushkil hai,
rote hue dil ko manaana mushkil hai,
ye dil apanon ko kitana yaad karata hai,
ye kuchh lafzon mein bayaan kar paana mushkil hai.

जुदा होकर भी सताने से बाज़ नहीं आते,
दूर रहकर भी वो दिल जलाने से बाज़ नहीं आते,
हम तो भूलना चाहते हैं हर एक याद उनकी,
मगर वो ख्वाबों में आने से भी बाज़ नहीं आते।

juda hokar bhee sataane se baaz nahin aate,
door rahakar bhee vo dil jalaane se baaz nahin aate,
ham to bhoolana chaahate hain har ek yaad unakee,
magar vo khvaabon mein aane se bhee baaz nahin aate.


साँस लेने से भी तेरी याद आती है,
हर साँस में तेरी खुशबू बस जाती है,
कैसे कहूँ कि साँस से मैं ज़िंदा हूँ,
जब कि साँस से पहले तेरी याद आती है।

saans lene se bhee teree yaad aatee hai,
har saans mein teree khushaboo bas jaatee hai,
kaise kahoon ki saans se main zinda hoon,
jab ki saans se pahale teree yaad aatee hai.


जो तूने दिया उसे हम याद करेंगे,
हर पल तेरे मिलने की फ़रियाद करेंगे,
चले आना जब कभी ख्याल आये मेरा,
हम रोज़ खुदा से पहले तुझे याद करेंगे।

jo toone diya use ham yaad karenge,
har pal tere milane kee fariyaad karenge,
chale aana jab kabhee khyaal aaye mera,
ham roz khuda se pahale tujhe yaad karenge.


हर वक़्त तेरी यादें तड़पाती हैं मुझे,
आखिर इतना क्यों ये सताती हैं मुझे,
इश्क तो किया था तुमने भी शौंक से,
तो क्यों नहीं यह एहसास दिलाती हैं तुझे।

har vaqt teree yaaden tadapaatee hain mujhe,
aakhir itana kyon ye sataatee hain mujhe,
ishk to kiya tha tumane bhee shaunk se,
to kyon nahin yah ehasaas dilaatee hain tujhe.




Click to rate this post!
[Total: 0 Average: 0]

About MUSAPHIR

Shayari from Heart...

View all posts by MUSAPHIR →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *